परिचय


गणितीय ब्लॉग "गणिताञ्जलि" पर आपका स्वागत है ! $\ast\ast\ast\ast\ast$ प्रस्तुत वेबपृष्ठ गणित के विविध विषयों पर सुरुचिपूर्ण व सुग्राह्य रचनाएँ हिंदी में सविस्तार प्रकाशित करता है.$\ast\ast\ast\ast\ast$ गणिताञ्जलि : शून्य $(0)$ से अनंत $(\infty)$ तक ! $\ast\ast\ast\ast\ast$ इस वेबपृष्ठ पर उपलब्ध लेख मौलिक व प्रामाणिक हैं.

नवीनतम प्रविष्टियाँ सीधे आपके ई-मेल इनबॉक्स में...नीचे अपना ई-मेल पता प्रविष्ट कर सत्यापित करें !

गुरुवार, 22 दिसंबर 2016

पुरस्कृत लेख: त्रिकोणमिति का संक्षिप्त परिचय

***********************************************************
गणिताञ्जलि प्रतियोगिता 2016 में पुरस्कृत लेख
***********************************************************
लेखिका: नैना कुमारी
वर्ग - दशम
उच्च विद्यालय चैनपुर पड़री, सहरसा, बिहार
***********************************************************

त्रिकोणमिति शब्द तीन शब्दों - त्रि, कोण और मिति से बना है. त्रि का अर्थ है तीन और मिति का अर्थ होता है माप. इस प्रकार त्रिकोणमिति का अर्थ है - तीन कोणों का माप. अतः त्रिकोणमिति (Trigonometry) विषय से तात्पर्य है गणित की वह शाखा जिसमें त्रिभुज (triangle) के कोणों (angles) और भुजाओं (sides) के बीच अंतर्संबंधों का अध्ययन किया जाता है.

कोई टिप्पणी नहीं :

एक टिप्पणी भेजें

शीर्ष पर जाएँ